महिला विरोधी बयान के लिए भाजपा विधायक को विपक्ष ने कहा 'रावण'

मुंबई। महाराष्ट्र में भाजपा विधायक राम कदम द्वारा महिला विरोधी विवादित टिप्पणी पर विपक्ष ने हमला बोला है। सहयोगी शिवसेना ने मंगलवार को ही उनकी टिप्पणी की आलोचना की थी। विपक्षी दलों ने भाजपा विधायक को रावण तक कह दिया।

घाटकोपर विधायक राम कदम ने अपने विधानसभा क्षेत्र में जन्माष्टमी के मौके एक स्थान पर आयोजित 'दही-हांडी' उत्सव के अवसर पर युवाओं को संबोधित करते हुए कहा था कि यदि कोई लड़की उनका प्रस्ताव ठुकरा देती है, तो उसे अगवा कर लो। हालांकि बाद में राम कदम ने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांग ली थी। अब उनके बयान का विरोध करते हुए महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के घर के बाहर तथा घाटकोपर में राम कदम को रावण बताते हुए पोस्टर चिपकाए हैं।

मनसे का विरोध 

राज ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी ने पोस्टर में कहा है, 'वह कद्दावर विधायक जो पहले महिलाओं के प्रति सहानुभूति रखता था, लड़कियों का अपहरण कर लेगा। यदि वह या उसके आदमी ऐसा करते हैं, तो पुलिस में शिकायत दर्ज करें और हमें भी इसकी जानकारी दें। हम आपकी बेटियों की सुरक्षा करेंगे।'

राकांपा बोली...तो बोलते रहेंगे 'रावण कदम'
इधर, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रवक्ता नवाब मलिक ने कहा कि भाजपा के विधायक को माफी मांगने तक 'रावण कदम' कहा जाएगा। राकांपा नेता ने कहा कि खेद जताना और माफी मांगना अलग चीजें हैं। हमारी पार्टी उनके खिलाफ विरोध जारी रखेगी और उन्हें तब तक 'रावण कदम' कहेगी, जब तक वह माफी न मांग लें। इसके लिए हम पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन करेंगे।

उद्धव ठाकरे ने की विधायक पर बैन लगाने की मांग

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने बुधवार को भाजपा विधायक के खिलाफ कठोर एक्शन लेने की मांग की है। ठाकरे ने कहा कि महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले विधायक के खिलाफ न केवल कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए, बल्कि भविष्य में उसे किसी भी पार्टी द्वारा टिकट भी नहीं दिया जाना चाहिए। वह खराब मानसिकता और चरित्र के व्यक्ति हैं। भाजपा विधायक द्वारा महिला विरोधी टिप्पणी किए जाने के तुरंत बाद शिवसेना प्रमुख ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके उनकी आलोचना की और कार्रवाई की मांग उठाई। ठाकरे ने भाजपा पर व्यंग्य करते हुए कहा, 'मैं नहीं जानता कि भाजपा ने 'बेटी भगाओ' जैसे किसी अभियान की शुरुआत की है। लेकिन अगर बहनों और बेटियों के लिए इस तरह के बयान कोई भी देगा, तो हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।'