भाजपा में मचा हड़कंप, साधु संत हुए नाराज

 मुख्यमंत्री शिवराज भ्रष्ट और लुटेरा-कम्प्यूटर बाबा

भाजपा में मचा हड़कंप, साधु संत हुए नाराज

भोपालl मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव से पहले राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त कंप्यूटर बाबा ने इस्तीफा देकर सबकों चौंका दिया है। जहां भाजपा में इसको लेकर हड़कंप मचा हुआ है वही बाबा ने अब सड़क पर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलना शुरु कर दिया है। इसी कड़ी में  बाबा ने अन्य साधु संतों के साथ मिलकर राजधानी भोपाल में सरकार को विधानसभा चुनाव में हराने के लिए हवन किया और भगवान से उन्हें सदबुद्धि देने की प्रार्थना की। इसके साथ ही बाबा ने आगे के आंदोलन की रणनीति बनाई  और सरकार पर जमकर हमला बोलाl उन्होंने शिवराज सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भ्रष्ट  और लुटेरा हैl भाजपा केवल धर्म की बातें करती है और काम अधर्म का करती है। भाजपा को नर्मदा, गाय, संतों और मठों मंदिरों की चिंता नही है।उन्होंने कहा कि प्रदेश में अंधेरी नगरी चौपट राजा जैसी व्यवस्था है। प्रदेश कैसे चल रहा है और क्या हो रहा है इसकी किसी को भी चिंता नही है।यह चिंता का विषय है इसको लेकर जल्द ही धर्म संसद बुलाई जाएगी और रणनीति बनाई जाएगी। जो भी दल धर्म को समर्थन देगा और उसके लिए काम करेगा हम उसी को सपोर्ट करेंगें। वही बाबा ने अब किसी अन्य राजनीतिक दल में जाने से इंकार कर दिया है।

बता दे कि मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार ने इस साल अप्रैल में पांच हिन्दू बाबाओं को राज्यमंत्री का दर्जा दिया था, जिसमें कम्प्यूटर बाबा भी शामिल थे। उन्होंने सोमवार शाम सरकार पर उपेक्षा किए जाने का आरोप लगाते हुए राज्यमंत्री का दर्जा लौटाने की घोषणा की। इससे पहले कम्‍प्‍यूटर बाबा विधानसभा चुनाव लड़ने की अपनी इच्छा जता चुके थे। उन्होंने कई बार कहा था कि मुख्यमंत्री कहेंगे तो चुनाव जरूर लड़ेंगे। हालांकि, इस्तीफा देने के बाद वे इससे मुकर गए। कम्‍प्‍यूटर बाबा षटदर्शन समिति के प्रदेश अध्यक्ष हैं। इस समिति के महासचिव स्वामी नवीनानंद ने कहा कि कम्‍प्‍यूटर बाबा या तो संतों का काम करवाएं या इस्तीफा दें।