मुख्यमंत्री का आदित्य ठाकरे को निमंत्रण

मुख्यमंत्री का आदित्य ठाकरे को निमंत्रण

 

डेप्युटी सीएम पद देने के लिए तैयार हूं, मै चाहता हूं कि वह सरकार का हिस्सा बनें

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने एक सभा में आदित्य ठाकरे कों उपमुख्यमंत्री का न्योता दिया और कहा कि उन्हें खुशी होगी अगर आदित्य ठाकरे उनकी कैबिनेट का हिस्सा बनते हैं।

·         मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का बड़ा बयान

·         युवासेना प्रमुख आदित्य ठाकरे को उपमुख्यमंत्री पद देने के लिए तैयार

·         पुराने सहयोगियों के  साथ लड़ेंगे अगला चुनाव

·        
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फर्न्विस ने एक बड़ा बयांन दिया है सीएम फडणवीस ने कहा है कि वह युवासेना प्रमुख  आदित्य ठाकरे को उपमुख्यमंत्री पद देने के लिए तैयार हैं। साथ ही उन्होंने यह भी साफ किया है कि चाहे कुछ भी हो महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना मिलकर चुनाव लड़ेंगी। 

देवेंद्र फडणवीस ने कहा, 'यह तो साफ है कि किसी भी कीमत पर इस चुनाव में बीजेपी, शिवसेना और दूसरे सहयोगी मिलकर चुनाव लड़ेंगे।' फडणवीस ने आगे कहा, 'अपने पुराने सहयोगियों को साइडलाइन कर देना हमारी परंपरा में नहीं है भले ही हम सबसे बड़ा दल क्यों न हों। हम बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं।' उन्होंने कहा कि सीटों का बंटवारा 130 से 140 तक हो सकता है और बाकी बची हुई सीटें सहयोगी दलों को बांट दी जाएंगी। बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा में 288 सीटें हैं। 
चर्चा है कि शिवसेना अब आदित्य ठाकरे को उप मुख्यमंत्री पद के लिए प्रॉजेक्ट कर रही है। इस पर देवेंद्र फडणवीस ने जवाब दिया, 'हमें इससे कभी कोई समस्या नहीं थी। हम अभी भी उन्हें यह पद देने को तैयार हैं। ठाकरे परिवार से चुनाव लड़ने वाले आदित्य पहले सदस्य होंगे और हमें खुशी होगी अगर वह हमारी सरकार का हिस्सा बनेंगे।

मुख्यमंत्री पद बना था टकराव की वजह 
बता दें कि महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले ही मुख्यमंत्री पद बीजेपी और उसके सहयोगी दल शिवसेना के लिए टकराव का मुख्य मुद्दा बना हुआ था। बीजेपी जहां देवेंद्र फडणवीस को ही सीएम पद पर बनाए रखना चाहती है, तो वहीं शिवसेना अपनी युवा इकाई युवासेना के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे को सीएम पद के लिए प्रोजेक्ट कर रही थी। लोकसभा चुनाव से पहले उद्धव ठाकरे, देवेंद्र फडणवीस और अमित शाह के बीच तय हुआ था कि दोनों पार्टियां राज्य की सत्ता में बराबर की अधिकारी होंगी। 

फडणवीस ने कहा था- अगला मुख्यमंत्री भी मैं ही बनूंगा 
आदित्य पहले ही राज्यव्यापी 'जन आशीर्वाद यात्रा' पर हैं और अब फडणवीस ने भी 1 अगस्त से अपनी 'महाजनादेश यात्रा' शुरू कर दी है। इससे पहले मुंबई में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए फड़णवीस ने कहा था,‘मैं सिर्फ बीजेपी का ही नहीं बल्कि शिवसेना, आरपीआई, राष्ट्रीय समाज पक्ष (राज्य सरकार में सभी सहयोगी पार्टियों) का भी मुख्यमंत्री हूं। जनता यह निर्णय करेगी कि कौन अगला मुख्यमंत्री होगा। आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। हमारा काम ही हमारे लिए बोलेगा।