राज्य सरकार कडोंमनपा के बाढ़ पीड़ितों को आर्थिक सहायता से मदद करे--संदीप सिंह

राज्य सरकार कडोंमनपा के बाढ़ पीड़ितों को आर्थिक सहायता से मदद करे--संदीप सिंह 

-------------------------------------------------------

ओमकार मणि: कल्याण :-

कल्याण-डोंबिवली मे मानसूनी बरसात का जो कहर शहर पर बरपा हुआ,उससे शहरवासियों की करोड़ों रूपयों की संपत्तियाँ नष्ट हो गईं, उसका जिम्मेदार मनपा प्रशासन भी है।अब बरसात रुकने और बाढ़ खतम होने पर शहर के हजारों परिवारों को आर्थिक संकटों को झेलना पड़ेगा। मनपा मे विरोधी पक्ष नेता प्रकाश भोईर ने कल्याण के प्रांत अधिकारी और तहसीलदार को प्रार्थना पत्र देकर बाढ़ ग्रस्त परिवारों के लिए आर्थिक मदद देने का अनुरोध किया है। बाढ़ की भयावहता मे शहर मे जो बस्तियां डूब वाले क्षेत्रों मे थीं वहाँ जलजमाव स्वाभाविक था, लेकिन जो बस्तियाँ डूब वाले क्षेत्रों में नहीं थीं,वहाँ भी बाढ़ जैसा खौफनाक नजारा था। तो यह स्थानीय मनपा के लापरवाही के कारण था।इस साल बरसात अपेक्षा से ज्यादा जोरदार होगी,२६ जुलाई२००५ जैसी बरसात होगी, मौसम विभाग की ऐसी स्पस्ट सूचना और जानकारी मिलने के बाद भी कडोंमनपा प्रशासन बाढ़ ग्रस्तों को राहत पहुँचाने मे नाकाम ही रहा।मनपा प्रशासन इस कदर लापरवाह था कि उसे दुर्गाड़ी किले के पास गणेश घाट की झोपड़पट्टियों को पांच दिन तक किसी तरह की राहत-मदद करना जरूरी नही समझा! पत्रकारों और समाज सेवक भारत सोनार द्वारा महापौर विनीता राणे को गणेश घाट के झोपड़ावासियों की बदहाली की जानकारी देने पर,उनके निर्देश पर झोपड़ावासियों के लिए मनपा प्रशासन ने खाने-रहने की ब्यवस्था किया। 

हालांकि मौसम विभाग से बाढ़ की विभीषिका की अग्रिम जानकारी के बाद भी बाढ़ के दौरान नागरिकों की मदद मे कडोंमनपा प्रशासन कागजों मे ही सक्ष्म था प्रत्यक्ष नाकाम ही रहा, शहर के विधायकों, नगरसेवकों ने अपने स्तर पर मदद की। कल्याण पश्चिम के विधायक नरेन्द्र पवार और कल्याण पूर्व मे विधायक गणपत गायकवाड,मंडल अध्यक्ष संदीप सिंह  ने कार्यकर्ताओं के साथ कमर तक पानी मे जा-जाकर कर मदद की सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया तथा आश्रय वेलफेयर फाउंडेशन देवेन्द्र सिंह की टीम  भोजन व पानी मुहैया करवाया। नगरसेवक सुनील वायले ने अपने प्रभाग मे बाढ़ ग्रस्तों के लिए भोजन की ब्यवस्था की।टिटवाला मे मनसे नगरसेविका अपेक्षा जाधव ने भी अपने प्रभाग मे खाने का इंतजाम किया।कल्याण डोंबिवली मे बाढ़ का खौफनाक नजारा शहरवासियों ने देखा।शहर की जो धनवान आवास शंकुल हैं वो ५-६ फुट पानी में डुबे थे।कडोंमनपा का कथित आपात दस्ता मनपा के शहरी क्षेत्रों तक ही केंन्द्रित था। बरसात और बाढ़ का कहर पूरे शहर में था।विदित हो इस साल बरसात वर्ष२००५ की जुलाई से ज्यादा है।

 कल्याण डोंबिवली महानगर पालिका के मनपा मुख्यालय के गणेश घाट की झोपड़पट्टियां, गोविंद वाडी, रेतीबंदर, मिलिंद नगर, घोलप नगर,मिलिंद नगर के रहिवासी गणेश कांबले बताया कि कडोंमनपा से किसी तरह की मदद नही मिली लेकिन विधायक नरेन्द्र पवार ने खाना और पीने के पानी ब्यवस्था यहाँ के बाढ़ पीड़ितों के लिए किया, बाढ़ मे शहाड परिसर, टिटवाला पूर्व पश्चिम की इंदिरा नगर मांडा आदि की बस्तियाँ, कल्याण पूर्व खड़ेगोलवली, कैलाश नगर ,मंगला राघोनगर, २७ गांव मे पिसवली,गोलवली, सोनार पाड़ा आदि बस्तियों और मोहने परिसर, मोहिली परिसर की बस्तियों के अलावा डोंबिवली में जूनी डोंबिवली की देवी चा पाडा, कुंभार खान पाड़ा, पूर्व मे नांदिवली,एमआयडीसी मे मिलाप नगर परिसर, के नागरिकों को बाढ़ विभीषिका झेलनी पड़ी है। भाजपा मंडल अध्यक्ष संदीप सिंह  ने सिलसिलेवार जानकारी देकर बताया कि बाढ़ से नागरिकों के घरेलू सामान सड़ गये हैं। खाद्य सामग्री भीग गई हैं इस्तेमाल के लायक नहीं हैं। ऐसी हालत मे नागरिकों की मदद के लिए राज्य सरकार से बाढ़ पीड़ितों को आर्थिक सहायता देने का अनुरोध किया है।