पत्रीपुल पर रास्ता रोकों आन्दोलन


पत्रीपुल पर रास्ता रोकों आन्दोलन  

सांसद व् विधायक के खिलाफ जन आक्रोश 

कल्याण :ठाणे जिल्हा में पहले पायदान पर ट्राफिक जोन कल्याण पत्रिपूल की समस्या को लेकर जनाक्रोश देखा जा रहा है .कल ९ अगस्त २०१९ कों पत्रिपूल पर अरुण महाजन नामक व्यक्ति की मृत्यु  ट्रक के निचे आने से हो गई .जिसका खबर मिलने के बाद अपक्ष नगरसेवक कुणाल पाटिल ,रिप्बलिकन पार्टी ऑफ़ इंडिया के कल्याण शहर अध्यक्ष भरत सोनवने  ,तिसाई रिक्शा चालक मालक एसोसिएशन, के अध्यक्ष रक्कू शर्मा, योगेश पटेल शे.का.प ,धरमराज भाई , मानोज भाई , बलराज भाई ,राजू भाई , राजेश भाई,कृष्णा भाई ,विनीश भाई, राहुल पाठक भाई,जयराज भाई, अमित मिश्रा, सुमित मिश्रा, राहुल शुक्ला भाई सभी लोगो के साथ कल्याण व्यपारी संगठना ,जनकल्याण सेवाभावी संस्था कल्याण पूर्व के साथ मिलकर आज रास्ता रोकों आन्दोलन किये तथा सांसद व् विधायक के खिलाफ जन आक्रोश भी देखने को मिला .जिसमे मनसे के कार्यकार्तओ  ने मुंडन करवाकर अपना सरकार के प्रति विरोध प्रदर्शित किया . 

गौरतलब हो कि पत्री पुल समस्या तब उत्पन्न हुवा जब  ६ महीने पूर्व अचानक बंद कर दिया गया . कारण बताते हुए कहा गया कि  जिस पुल पर आवाजाही बंद की गई है वह ब्रिटिश सरकार ने बनाई थी .जिसकी अवधि पूरी हो चुकी है ,किसी प्रकार का दुर्घटना न हों इसके लिए सरकार ने पुल को बंद कर दिया . जिसका परिणाम कल्याण पूर्व से पश्चिम आने - जाने वाले लोगों को घंटो ट्राफिक में फसे रहना पड़ता है . लोग सवाल उठा रहे है जिस कि दुर्घटना रोकने के लिए सरकार ने पुल को बंद कर दिया था वह दुर्घटना तो हो ही रही है और  ट्राफिक की समस्या भी झेल रहे है . इस समस्या से लगभग १ लाख  लोग  परेशान है लेकिन प्रसाशन कों कोई चिंता नहीं है . नगरसेवक कुणाल पाटिल ने शासन और प्रशाशन को चेतवानी देते हुए कहा है कि यदि जल्द से जल्द कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तो प्रशासन बड़ा आंदोलन के लिए तैयार रहे  ,उसमे कोई हानि होती है तो प्रशासन व् सरकार  जिमेदार होगी .